बैंक मैनेजर कैसे बने

बैंक मैनेजर कैसे बने

आज की इस आर्टिकल में जानेंगे की बैंक मैनेजर कैसे बने क्योंकि हर युवा की पहली पसंद होती है कि बैंक मैनेजर की नौकरी पाएं क्योंकि यह एक सम्मानजनक और आराम की नौकरी होती है | जिसमें काफी अच्छा वेतन मिलता है , इसीलिए लोगों को बैंक में नौकरी करने में काफी दिलचस्पी बढ़ रही है |

इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कि बैंक मैनेजर कैसे बने अगर आप बैंक मैनेजर के सम्मानजनक नौकरी पाना चाहते हैं तो आपको उसके अनुसार मेहनत भी करना होगा, क्योंकि बैंक मैनेजर की नौकरी पाना बहुत कठिन कार्य है | जब तक आपको सही मार्गदर्शन नहीं मिलेगा तब तक आप की मेहनत बेकार हो जाएगी|

इसीलिए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सही और उचित मार्गदर्शन देने का प्रयास करेंगे तो अगर आप बैंक मैनेजर बनना चाहते हैं तो यह आर्टिकल पूरा पढ़ें|

बैंक मैनेजर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए

  • उम्मीदवार की उम्र 21 वर्ष या उससे अधिक होना आवश्यक है|
  • उम्मीदवार के स्नातक में 60% अंक होने आवश्यक है इससे कम अंकों वाले उम्मीदवार भी आवेदन कर सकते हैं. लेकिन यह सुविधा बहुत कम बैंक देती है |
  • 12वीं में कॉमर्स वाले विद्यार्थी को ज्यादा मान्यता दी जाती है क्योंकि इन बच्चों में बैंकिंग का ज्यादा अनुभव होता है ।
  • उम्मीदवार कोई कैदी नहीं होना चाहिए और उस पर किसी भी तरह के पुलिस केस नहीं होना चाहिए |
  • उम्मीदवार को बैंकिंग के बारे में जानकारी होना आवश्यक है|
  • अंग्रेजी भाषा का अनुभव होना आवश्यक है क्योंकि बैंकिंग में ज्यादातर इंग्लिश भाषा का इस्तेमाल होता है|
  • उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक पास होना चाहिए|

बैंक मैनेजर के लिए आवेदन कैसे किया जाए

बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको आने वाली बैंकों की भर्ती पर ध्यान रखना होगा | जब इसकी भर्ती आती है तब आपको आवेदन करना होगा | हर बैंक के लिए अलग-अलग भर्तियां आती है आप उसकी ऑफिशियल वेबसाइट को सर्च कर सकते हैं या फिर ibps.in पर जा सकते हैं |

प्राइवेट बैंक में मैनेजर बनना आसान है इसमें आप सीधे डॉक्यूमेंट जमा करवा दीजिए और आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा तब आप अपनी सारी डॉक्यूमेंट लेकर इंटरव्यू के लिए जाएं | अगर आप इंटरव्यू में सफल होते हैं तो आपको सीधे नौकरी पर लगाया जाता है |

बैंक मैनेजर की चयन प्रक्रिया

बैंक मैनेजर कैसे बने
बैंक मैनेजर कैसे बने

Bank मैनेजर की चयन प्रक्रिया मुख्यता 4 प्रकार से होती है

  1. प्रारंभिक परीक्षाप्रारंभिक परीक्षा
  2. मुख्य परीक्षामुख्य परीक्षा
  3. साक्षात्कार
  4. समूहसमूह विचार विमर्श
प्रारंभिक परीक्षा(preliminary examination)

बैंक मैनेजर बनने के लिए यह पहला चरण होता है यह परीक्षा उम्मीदवार की काबिलियत की परख करने के लिए होता है | इस परीक्षा के माध्यम से काबिल उम्मीदवारों को चयन किया जाता है और अन्य लोगों को मुख्य परीक्षा से बाहर कर दिया जाता है| यह परीक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण होती है इसके लिए भी उम्मीदवारों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है |

मुख्य परीक्षा (main exam)

यह परीक्षा बैंक मैनेजर बनने का दूसरा चरण होता है यह प्रारंभिक परीक्षा से काफी कठिन होता है और जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में सफल घोषित होते हैं उन्हीं को इस परीक्षा में बुलाया जाता है |

साक्षात्कार (Interview)

दोनों परीक्षा में सफल होने वाले उम्मीदवारों को इस चरण में बुलाया जाता है |इस चरण में कुछ अधिकारी उम्मीदवारों को उनके बताए गए स्थान पर डॉक्यूमेंट ले कर बुलाते हैं और अधिकारी उम्मीदवारों से कुछ सवाल जवाब करते हैं |उम्मीदवारों द्वारा उनके सवालों का जवाब किस तरीके से दिया जाता है. उसके आधार पर अधिकारी उम्मीदवारों को उत्तीर्ण घोषित करते हैं |

समूह विचार विमर्श (group discussions)

बैंक मैनेजर बनने का यह अंतिम चरण होता है जो कि साक्षात्कार से काफी मिलता-जुलता है| इसमें कुछ अधिकारी और उम्मीदवार एक जगह पर बैठकर उम्मीदवार को कोई एक विषय देते हैं |

उम्मीदवार को उस विषय पर अपने विचार व्यक्त करके अपनी काबिलियत दिखानी होती है इसके बाद बैंक मैनेजर की पोस्ट दे दी जाती है |

इसे भी पढ़े :

हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे इस आर्टिकल से आपको बैंक मैनेजर बनने में काफी मदद मिलेगी अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो कृपया इस आर्टिकल को शेयर जरूर करें ।

Leave a Comment