मनोवैज्ञानिक कैसे बने

क्या आप जानते हैं की मनोविज्ञान क्या होता है. आप मनोवैज्ञानिक कैसे बने | अगर नहीं तो आज के इस आर्टिकल में हम लोग मनोविज्ञान के बारे में पूरी विस्तार से जानेगें । इस आर्टिकल को पूरा पढ़े ।

समाज समाज में बढ़ रहे अपराधों का मुख्य कारण व्यक्तिगत एवं व्यक्तित्व से संबंधित समस्याएं होती है. इस तरह के मामलों में एक मनोवैज्ञानिक अथवा मनोचिकित्सक की भूमिका विशेष हो जाती है | इसके अलावा मनोविज्ञान क्षेत्र में अनेक विषयों से संबंधित ज्ञान की प्राप्ति की जा सकती है | इन क्षेत्रों में बाल कल्याण एवं बाल स्वास्थ्य, घरेलू हिंसा परामर्श सेवाएं, महिला एवं परिवार कल्याण सेवाएं ,शारीरिक एवं मानसिक रूप से विकलांग व्यक्तियों के लिए किए जाने वाले कार्य मुख्य माने जाते हैं |

मनोवैज्ञानिक कौन होते हैं

मनोवैज्ञानिक वह डॉक्टर होते हैं जोकि आपके अंदर की भावनाओं को, आपके काम करने के तरीके को, आप के पहनावे को या फिर आपके चलने को देख कर ही आपके अंदर की सारी बातों को जान लेते हैं | या फिर आप किसी चीज से परेशान हैं, तो यह आपको देखकर ही बता देते हैं कि आपके अंदर क्या परेशानी चल रही है | या फिर आप किस बात में खोए हुए हैं यह सभी बात मनोवैज्ञानिक अपने अनुभव के द्वारा बताते हैं |

मनोवैज्ञानिक की जरूरत क्यों है

मनोवैज्ञानिक कैसे बनें
मनोवैज्ञानिक कैसे बनें

मनोवैज्ञानिक का प्रमुख कार्य रोगों का पता लगाना और उसका उपचार करना है . महानगरीय जीवन पर अधिक पड़ रहे दबाव एवं बढ़ते तनाव के कारण मनोवैज्ञानिक डॉक्टर की मांग कई गुना बढ़ गई है | 130 करोड़ के आबादी वाले इस देश में इस कैरियर के संभावनाओं में नियंत्रित रूप से पर्याप्त वृद्धि हुई है. जबकि इस देश में क्लीनिकल मनोवैज्ञानिकों की संख्या आवश्यकता से कम है |उमीद करता हु की आप जाने होंगे की मनोवैज्ञानिक कैसे बने |

शैक्षिक योग्यता

मनोविज्ञान को 12th के बाद से ही एक विषय के रूप में पढ़ा जा सकता है . विश्वविद्यालय स्तर पर आप मनोविज्ञान में स्नातक और पीएचडी कर सकते हैं | कुछ विश्वविद्यालयों में स्नातक स्तर पर इस विषय में विशेष पाठ्यक्रम चलाए जाते हैं| अनेक संस्थानों में बाल मार्गदर्शन और परामर्श सेवा में 1 वर्ष का डिप्लोमा पाठ्यक्रम चलाया जाता है| इसमें प्रवेश के लिए कुछ संस्थान परीक्षाएं आयोजित करते हैं. कुछ संस्थान मेरिट के आधार पर प्रवेश देते हैं |

प्रमुख कोर्स कौन – कौन है

  • BA and BSC psychology
  • post graduate diploma in child
  • psychology care and management
  • MA and msc psychology
  • M.phil psychology
  • PhD psychology
  • clinical psychology

मनोविज्ञान व्यवहारिक प्रशिक्षण

क्लीनिकल मनोविज्ञान में स्नातक स्तर पर कम से कम 3 माह का व्यवहारिक प्रशिक्षण अनिवार्य है | इसमें प्रशिक्षकों विकास एवं मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े केंद्र में नियुक्त किया जा सकता है |इसके बाद अस्पताल के मनोचिकित्सक विभाग में भी कार्य किया जा सकता है |

  • jamia millia islamia vishwavidyalaya
  • Delhi Vishwa Vidyalaya
  • Dev culture university of Haridwar
  • Central psychology institute Ranchi

इन सभी कॉलेजो में क्लीनिकल मनोविज्ञान के पाठ्यक्रम पढ़ाये जाते हैं

मनोवैज्ञानिक के गुण क्या होना चाहिए

मनोविज्ञान के क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति को धैर्यवान होना चाहिए इन गुण के द्वारा ही कोई सफल विश्लेषक बन सकता है . इन्हीं गुणों के आधार पर वह अवसाद या तनाव से घिरे व्यक्तियों की दिक्कत तो को समझ पाएगा और उसका उपचार कर पाएगा | इसके अतिरिक्त मनोवैज्ञानिक सामने वाले व्यक्ति की बात और उसके परेशानियों को समझने और अपनी बात उसे समझाने की क्षमता होनी चाहिए |

नौकरी कहां पर लगेगी

  • Hospital counselling area
  • school reforms homes
  • family counselling centre
  • industries in in HR department
  • women and sale development
  • mental health care centre
  • नशा मुक्ति केंद्र
  • खेल मनोविज्ञान

काउंसलर और स्टेज

मानवीय जीवन में कुछ ऐसे स्टेज आते हैं जहां काउंसलर के मार्गदर्शन की जरूरत होती है जैसे :

  • बाल्यावस्था

स्कूली स्तर पर कमजोर बच्चों में व्यक्तित्व विकार होता है. जिसे काउंसलर की मदद से दूर किया जा सकता है. इसके अलावा बाल अपराध पर अंकुश के लिए मनोवैज्ञानिक प्रयास किए जा सकते हैं |

  • युवा अवस्था

युवाओं की क्षमताओं का विकास मनोविज्ञान के माध्यम से संभव है. युवाओं में बेरोजगारी व आवश्यकताओं की पूर्ति ना होने पर उनमें असंतोष रहता है| जिनका निदान मनोविज्ञान में संभव है|

  • वृद्धावस्था

वृद्धावस्था में प्रेम और सहयोग की जरूरत होती है. यह न मिलने पर उनमें एंजायटी, डिप्रेशन और हाइपोटेंशन जैसी समस्याएं हो जाती है | जिनके समाधान में काउंसलर मदद करता है |

मनोविज्ञान के यहां से कोर्स करें

  • Delhi university( Delhi)
  • Indira Gandhi national open university( IGNOU)
  • Banaras Hindu vishwavidyalay (Varanasi)
  • Allahabad University (Allahabad)
  • CSJM university
  • Kumaun university national (Uttarakhand)
  • Panjab university (Chandigarh)
  • Patna university (Patna)

इसे भी पढ़े ; क्रिप्टोकरेंसी क्या है | क्रिप्टो करेंसी की कीमत कैसे तय होती है

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आज के इस आर्टिकल में आप पूरी विस्तार से समझाए होंगे कि मनोविज्ञान क्या होता है आप मनोवैज्ञानिक कैसे बने अगर आपको या आर्टिकल पसंद आया आप अपने दोस्तों को जरूर बताएं एवं किसी भी विषय पर आपको जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं |

Leave a Comment